390+ Best Shayari Ki Dayri in Hindi | Meri Diary Sad Shayari हिंदी में

Sayri ki dayri, Shayri ki dayri, Shayari ki diary, Sayeri ki dayeri, Sayri ki dayri in hindi, Sayri ki dayri hindi, Sayri ki dayri love, Shayri ki dayri in hindi,

Shayari Ki Dayri :- डायरी हमारे दिल के सबसे करीब होता है क्योंकि इसमें हम अपने खूबसूरत जज्बातों को कैद करके रखते हैं, उन लम्हों को कैद करते है जो हमारे जीवन में दुबारा नहीं आएगा। डायरी में महत्वपूर्ण बातें भी लिखी जाती है, अब समय टेक्नोलॉजी का आ गया है. डायरी का प्रयोग कम लोग करते है, पर जो लोग डायरी का प्रयोग करते है, उन्हें आज भी वही ख़ुशी और एहसास का अनुभव होता है, जीवन के उत्साह भरे पल, जीवन के दुखी पल, जीवन के रोमांचक पल, प्यार भरे अनुभव आदि लोग डायरी में जीवंत लिखते हैं तो पोस्ट को पढ़े और और प्यार से पल को ताजा करें, पोस्ट अगर अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ प्लीज़ शेयर करें |

वो सिर्फ़ मेरा था !!
सिर्फ़ मेरे ही सामने !!

Shayari Ki Dayri
Shayari Ki Dayri

आना पड़ जाता है आसमां से भी टूट कर तारों को !!
जब ज़मीन पर मोहब्बत का इंतहान होता है !!

जिंदगी में कसूर बहुत किये हम !!
पर सजा तब मिली जब बेकसूर थे हम !!

हमसे अब वफा भी नहीं होती !!
सच बोलने पर भी वो खफा नहीं होती !!

कमाल के लोग है और कमाल के धंधे !!
चेहरे से खूबसूरत और सोच से गंदे !!

जिस दिन जिंदगी में मेरी कमी पाओगे !!
उस दिन खुद को माफ़ नहीं कर पाओगे !!

मैं अपने सारे एहसास समेत ले जाऊँगा !!
हौसला रख मैं बहुत दूर चला जाऊँगा !!

ना किस्सों में ना किश्तों में !!
जिंदगी का मजा है सच्चे रिश्तों में !!

बचपन में दूसरों की कहानी सुन के सोते थे !!
आज खुद की कहानी सोच के रात में रोते हैं !!

भरने को तो हर जख्म भर जाएगा !!
कैसे भरेंगे वो ‘जगह’ जहां तेरी कमी होगी !!

True Love Quotes in Hindi

Shayari Ki Dayri

हमने तो उस शहर में भी किया है इंतज़ार तेरा !!
जहाँ मोहब्बत का कोई रिवाज़ न था !!

दर्द-ए-दिल खुल के आज सुना दू सबको !!
जी चाहता है कुछ ऐसा लिखूं के रुला दू सबको !!

इस कदर तेरी ख्यालों में यूँ डूब जाएँ !!
कि सारी दुनिया को भूल जाएँ !!

उसने दिल पर लगा रखे पहरे हैं !!
पर उसने दिल पर खाए घाव भी गहरे हैं !!

ना जाने क्यों वो हमे बेवफ़ा कहते हैं !!
अब तो मुस्कुराने पर होठ जलते हैं !!

काश ! हर इंसान को इतना अक्ल आये !!
कि लोगो के दिलों से खेलना बंद हो जाये !!

जी चाहता है एक गजल लिख दूँ !!
तुम्हारी मुस्कुराती होठों को कमल लिख दूँ !!

सितम पे सितम कर रही है वो मुझ पर !!
मुझे शायद अपना समझने लगी है अब !!

इज़हार से नहीं लगता पता किसी के प्रेम का !!
इंतजार बताता है तलबगार कौन है !!

दुनियां के सांचे में ढल नहीं पा रहीं हूं !!
दुनिया भाग रही है !!
और मैं चल भी नहीं पा रही हूं !!

Shayari For Love in Hindi

Sayri ki dayri

तू मेरे दिल के इतने पास हैं !!
जैसे धड़कन दिल के साथ हैं !!

पुरानी होकर भी खास होती है !!
मोहब्बत जब होती है तो बेहिसाब होती है !!

हार-जीत के चक्कर में यहाँ हर कोई परेशान हैं !!
“ख़ुशी से जीना” भी सफ़लता का दूसरा नाम हैं !!

जिंदगी में गलतियां करने वाले ही सलाह देते हैं !!
समझदार लोग कहाँ इतने फुरसत में होते हैं !!

कोई बेटा कभी न कहे ख़ुदा के लिए !!
माँ-बाप ने क्या किया है उसके लिए !!

ना जाने वो बच्चा किस खिलौने से खेलता हैं !!
जो दिन भर मेले में खिलौना बेचता हैं !!

हम सब की जो दुआ थी उसे सुन लिया गया !!
फूलों की तरह आप को भी चुन लिया गया !!

गर मोहब्बत है तो सामने आया करो !!
यूं ख्वाबों में आना अच्छा तो नही !!

हाथ मिलाने से अच्छा था नजर मिला लेते !!
कुछ अपनो से बाते इशारे में भी होते है !!

इशारों में भी हमे कुछ बाते समझाया गया !!
की तुम गैर हो और अपनो को चाय पिलाया गया !!

Rose Day Shayari in Hindi

Shayri ki dayri

बेगाना हमने नही किया किसी को !!
जिसका भी दिल भरता गया वो हमे छोड़ता गया !!

फ़कीरी ये कि तुझसे मिल नहीं सकते !!
रईसी ये कि तुझसे इश्क़ करते हैं !!

दिल की खामोशी से सांसो के ठहर जाने तक !!
मुझे याद रहेगा वो अजनबी मेरे मर जाने तक !!

खुदा ही जाने क्यूँ तुम हाथो पे मेहँदी लगाती हो !!
बड़ी नासमझ हो फूलों पर पत्तों के रंग चढ़ाती हो !!

मेरे बुरे वक्त में छोड़ने वालों !!
एक दिन ऐसा वक्त लाऊंगा !!
कि मिलना पड़ेगा मुझसे वक्त लेकर !!

अल्लाह ने हर काम का !!
एक सही वक्त तय कर रखा है !!
उससे पहले या उसके बाद !!
में कुछ नहीं हो सकता !!

जिस दिन तुम्हे लगने लगे की कोई !!
तुमसे दूरियां बनाना चाहता है !!
उस दिन दूरियां बना लेनी चाहिए !!
क्यूंकि गलतफहमियों में रहकर जीने में !!
बड़ा दुःख होता है !!

नही देखा तुम्हे करीब से कभी पर दिल में !!
आपकी सूरत बसती है !!
तुम चाहे मानो या ना मानो इसे पर !!
तुम्हारे साथ ये जिंदगी बड़ी खूबसूरत लगती है

मिलना होगा जिंदगी से कभी तो !!
कहूंगा इस कदर दो लफ्ज अधूरे से !!
की मोह्हब्त करके हमनें सम्भलना !!
तो नहीं पर यादों में रोना जरूर सीख लिये !!

एक सपने की तरह सजा कर रखु !!
अपने इस दिल में हमेशा छुपा कर रखु !!
मेरी तक़दीर मेरे साथ नहीं वर्ना !!
ज़िंदगी भर के लिए उसे अपना बना कर रखु !!

Block Shayari in hindi for love

Shayari ki diary

सब जान के अनजान बन रहा हू मै !!
कुछ इस तरह इस दिल !!
पर मेहरबान हो रहा हु में !!

मुहब्बत को जब लोग खुदा मानते है !!
इश्क़ करने वालों को क्यों बुरा मानते है !!
जब जमाना ही पत्थर दिल है !!
फिर पत्थर से लोग क्यों दुआ मांगते है !!

तेरी धड़कन से धडकने लगा है ये दिल !!
आँखें हर पल तेरा इंतजार कर रही है !!
इस कदर जुड़ गया हु तुझसे में !!
तुझ बिन सांसें भी चलने से इंकार कर रही है !!

किसी अपने से हो जाए भूल !!
तो उसे वक्त से भूल जाना ही अच्छा होता है !!
पड़ जाए यदि किसी रिश्ते में गठान !!
उसे वक्त से खोल देना ही अच्छा होता है !!

बंद आंखों की जमीं में एक समंदर देखा है !!
वो दिखते है उतने ही मुझमें !!
जितना मैने खुद को उनमें देखा है !!
पूरी होती हर दुआ में खुश थे हम !!
बस एक अधूरी ख्वाइशों में !!
अनकहे से अल्फाजों की नमी को देखा है !!

प्यार सच्चा है या झूठा !!
सिर्फ ये समय तय करता है !!
जो हमें कभी मोहोबत का नाम कहता था !!
वो आज हमें उनके जरिए हुए गुनाहों का !!
गुनहागार करार करता है !!

तुम अगर चाहो तो !!
पूछ लिया करो खैरियत हमारी !!
कुछ हक़ दिए नही जाते ले लिए जाते है !!

हक़ से दे तो तेरी नफरत भी सर आँखों पर !!
खैरात में तो तेरी मोहब्बत भी मंजूर नहीं !!

कुछ सही तो कुछ खराब कहते हैं !!
लोग हमें बिगड़ा हुआ नवाब कहते हैं !!
हम तो बदनाम हुए कुछ इस कदर !!
कि पानी भी पियें तो लोग शराब कहते हैं !!

मैंने अपनी हर एक सांस तुम्हारी गुलाम कर रखी हैं !!
लोगो मैं ये ज़िन्दगी बदनाम कर रखी हैं !!
अब ये आइना भी क्या काम का मेरे !!
मैंने तो अपनी परछाई भी तुम्हारे नाम कर रखी हैं !!

Innocent Shayari in Hindi

Sayeri ki dayeri

दूर जाने से पहले मेरी नस-नस निचोड़ लेना !!
कतरे-कतरे मे अगर तू न मिले !!
तो बेशक़ मुझे छोड़ देना !!

इंतजार के लम्हें जब पिघलने लगते हैं !!
गली के लोग मेरे दिल पर चलने लगते हैं !!
इसलिए मैं परिंदों से दूर भागता हूँ !!
कि इनमें रह कर मेरे पर निकलने लगते हैं !!

मेने लिखना चाहा था कुछ !!
मोहबत में हुई बेवफाई पर !!
रुक गया लिख कर लफ्ज कुछ !!
क्या करू मुझे कोई बेवफा ना मिला !!

बिन बात के ही रूठने की आदत है !!
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है !!
आप खुश रहें !!
मेरा क्या है मैं तो आइना हूँ !!
मुझे तो टूटने की आदत है !!

हुस्न की अदाए दिखाने वाले तो हजारों !!
चेहरे मिल जाएंगे इस दुनिया में !!
पर मुझे तो उस हसीन चेहरे की तलाश है !!
जो दिल से सादगी बेचता हों !!

खामोशी में एक तूफान लिए फिरते है !!
चुप है लेकिन एक एक का हिसाब लिए फिरते है !!
अपने बदल गए अपने वक्त पर !!
बदलने को अपनी लकीरें !!
हम दिन रात किए करते है !!

बेवफा की यादें दिल में दर्द देती हैं !!
हर पल आंखों में आंसू आते हैं !!
वो जिसे अपना सब कुछ समझा था !!
वो ही अब बेवफा निकला !!

मेरी मोह्हब्त को इतना कमजोर ना समझना !!
क्यूंकि इसमे शक के लिए कोई जगह नही है !!
तुम मेरी थी ओर मेरी ही रहोगी हमेशा !!
क्यूंकि छोड़ने की कोई वजह नही है !!

क्यों किसी से इतना प्यार हो जाता है !!
एक दिन का भी इंतज़ार दुष्वार हो जाता है !!
अपने भी लगने लगते हैं पराये !!
जब एक अजनबी पर एतवार हो जाता है !!

दीवाना हूँ तेरा मुझे इंकार तो नही !!
कैसे मैं कह दूँ मुझे प्यार नही !!
कुछ शरारत तो तेरी निगाहों की भी थी !!
मैं अकेला इसका गुनहगार तो नही !!

Propose Shayari in Hindi

Sayri ki dayri in hindi

मोड़ नही सकते किस्मत को अपनी तरफ !!
इसलिए वक्त के साथ ख़ुद को बहने देते हैं !!
जवाब देने के लायक नही बने अभी !!
इसलिए थोड़ी तकलीफ खुद को सहने देते हैं !!

शायर होने का नुकसान का नुकसान भी मुझे हुआ !!
मैने उनसे कहा मोहब्बत है तुमसे !!
और उसने कहा वाह वाह !!

अच्छी लगी ये मोहब्बत की गलियां !!
जिंदगी रही तो एक बार और मोहब्बत करेगे हम भी !!

मैने मोहब्बत भी दो लोगो से किया !!
एक जो मेरी ना हो सकी और !!
दूसरा जिसका मैं न हो सका !!

शहर में उनके आज हलचल सी मच गई !!
सुना है कोई नैनो से दिल चुराने वाला आया है !!

तुम खुद को अपने संभाल रखा करो !!
ना जाने क्यों तुम मेरे ख्यालों में आ जाती हो !!

बहक जाया करता हूं तुम्हारे आ जाने पर !!
तुम नजरो से एक पर ओझल ना होया करो !!

हम बुरे है आप के लिए पर हमारी आदतें बुरी नही
हम घर से दूर तो रह लेंगे पर चाय से कोई दूरी नही

मैं शायरी नही लेख लिखता हू !!
लोगो को नही दिल को देख लिखता हूं !!
जिंदगी लिखनी बाकी रहेगी हमेशा !!
चेहरे पर आई हुई उदासी !!
और मुस्कान हर एक लिखता हूं !!

नदी जैसी जिन्दगी !!
दो किनारों जैसे हालात हैं !!
एक किनारें ख्वाहिशें !!
और दुसरे किनारे औकात हैं !!

Aap Hamesha Khush Rahe Shayari 

Sayri ki dayri hindi

वो ही मेरा ख्वाब था !!
वो ही मेरा जज्बात था !!
दिल के जर्रें-जर्रें में बसा था वो !!
बस उसी को ये एहसास न था !!

मुहब्बत को जब लोग खुदा मानते है !!
इश्क़ करने वालों को क्यों बुरा मानते है !!
जब जमाना ही पत्थर दिल है !!
फिर पत्थर से लोग क्यों दुआ मांगते है !!

एक सपने की तरह सजा कर रखूँ !!
अपने इस दिल में हमेशा छुपा कर रखूँ !!
मेरी तक़दीर मेरे साथ नहीं वरना !!
ज़िंदगी भर के लिए उसे अपना बना कर रखूँ !!

आपकी चाहत हमारी कहानी है !!
ये कहानी इस वक़्त की मेहरबानी है !!
हमारी मौत का तो पता नहीं !!
पर हमारी ये ज़िंदगानी सिर्फ आपकी दीवानी है !!

इंतजार के लम्हें जब पिघलने लगते हैं !!
गली के लोग मेरे दिल पर चलने लगते हैं !!
इसलिए मैं परिंदों से दूर भागता हूँ !!
कि इनमें रह कर मेरे पर निकलने लगते हैं !!

उस नज़र की तरफ मत देखो !!
जो तुम्हे देखना से इनकार करती है !!
दुनिया की इस महफ़िल में उस नज़र को देखो !!
जो आपका इंतज़ार करती है !!

मेरी खुशियों से क्या दुश्मनी है !!
ये जिन्दगी तेरी
हम तो हरदम यूँ ही मुस्कुराते रहेंगे !!
ये आदत है मेरी !!

कोई चाहता है किसी को अपनाने के लिए !!
कोई चाहता है किसी को तन्हाई से बचाने के लिए !!
मुझे भी किसी ने चाहा था !!
सिर्फ अपना दिल बहलाने के लिए !!

सच ही लोग कहते है !!
इश्क़ यूँ आसान नहीं होता हैं !!
वो इश्क़ ही क्या जिसमें दिल परेशान नहीं होता हैं !!

शहर की जमीने क्या महंगी हुई !!
लोगो ने तो हद कर दिया !!
अब तो लोगों ने दिलों में भी जगह !!
देना बंद कर दिया !!

Mehndi Shayari in Hindi

Sayri ki dayri love

एक अजीज मिला था कहने को !!
एक खँडहर मिला था रहने को !!
मैं प्यासी थी उसके प्यार की !!
वो जहर दे गया पीने को !!

हर गलती सिर्फ सोरी !!
बोलने से माफ़ नहीं हो जाती !!
कुछ गलतियों के लिये !!
थप्पड़ मारना भी जरुरी होता है !!

प्यार कमजोर दिल से किया नहीं जा सकता !!
ज़हर दुश्मन से लिया नहीं जा सकता !!
दिल में बसी है उल्फत जिस प्यार की !!
उस के बिना जिया नहीं जा सकता !!

सुबह का हर पल ज़िंदगी दे आपको !!
दिन का हर लम्हा खुशी दे आपको !!
जहा गम की हवा छू कर भी न गुज़रे !!
खुदा वो जन्नत से ज़मीन दे आपको !!
उन लोगों से दूर रहना ही अच्छा है !!
जिनके नजदीक आपके आंसुओं की कोई कीमत नहीं !!

जिंदगी में ऐसे शख्स मत खोना !!
जिसके दिल में तुम्हारे लिए !!
इज्जत प्यार और फ़िक्र हो !!

तुझ में और मुझ में फ़र्क इतना सा है !!
कि तेरे कुछ-कुछ हूँ मैं !!
और मेरी सब कुछ तू है !!

रब ना करे कि !
इश्क़ की कमी किसी को सताएं !!
प्यार करो उसी से जो !!
तुम्हे दिल की हर बात बताएं !!

अगर इश्क करो तो हमेशा आयुर्वेदिक वाला करो !!
ताकि अगर फायदा न हो तो नुकसान भी न हो !!

लेखनी से लेख तो हर कोई लिखता है !!
हर कोई लेखक तो नही !!
कुछ शायर भी है !!
जो हाल ऐ दिल बयां कर देते है !!

कुछ मतलब के लिए ढूँढते हैं मुझको !!
बिन मतलब जो आए तो क्या बात है !!
कत्ल कर के तो सब ले जाएँगे दिल मेरा !!
कोई बातों से ले जाए तो क्या बात है !!

JOIN OUR WHATSAPP GRUOP

Shayri ki dayri in hindi

बिन बात के ही रूठने की आदत है !!
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है !!
आप खुश रहें मेरा क्या है !!
मैं तो आइना हूँ मुझे तो टूटने की आदत है !!

ज़माने से नहीं तन्हाई से डरते हैं !!
प्यार से नहीं रुसवाई से डरते हैं !!
मिलने की उमंग है दिल में लेकिन !!
मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरते हैं !!

घर से बाहर कोलेज !!
जाने के लिए वो नकाब मे निकली !!
सारी गली उनके पीछे निकली !!
इनकार करते थे वो हमारी मोहबत से !!
और हमारी ही तसवीर उनकी किताब से निकली !!

प्यार ने ये कैसा तोहफा दे दिया !!
मुझको गुमो ने पत्थर बना दिया !!
तेरी यादों मैं ही कट गयी ये उमर !!
कहता रहा तुझे कब का भुला दिया !!

बड़ा फर्क है किस्मत और हुनर में साहब!
हुनर सड़को पर नाच करता है !!
और किस्मत महलों में राज !!

मायने ज़िन्दगी के बदल गये अब तो !!
कई अपने मेरे बदल गये अब तो !!
करते थे बात आँधियों में साथ देने की !!
हवा चली और सब मुकर गये अब तो !!

मोहब्बत का नतीजा अक्सर बुरा होता है !!
बेवफाई मिलती है प्यार के बदले में !!
जो लोग प्यार में विश्वास करते हैं !!
उनके लिए यह दुनिया एक सपना है !!

ये मुक़्क़मल तो नहीं की हर सपना !!
देखा जो वो पुरा होता हैं !!
जिन्दगी सिखा देती हैं हर किसी को !!
की वक्त के साथ बदलना जरूरी होता हैं !!

में खो बैठा उसकी नजरो में इस कदर !!
फिर निकलने का किनारा ना मिला !!
वो मिला था मुझसे इस कदर कि !!
मिलकर फिर कभी दुबारा ना मिला !!

उसके एक हुकुम पर लापता !!
उसके एक हुकुम पर हाजिर और !!
तुम बताओ हमे इश्क है क्या !!
हम उससे दूर है उसकी खुशी के खातिर !!

इतनी मोहोबत है उनसे !!
आज उन्हें खुद से दूर कर दिए !!
जिनके बिना एक भी पल मुश्किल नहीं है !!
इस कदर उनके हो चुके है अगर वो न हुए !!
उसका मेरा बिना और !!
मेरा उसके बिना जीना बस में नहीं है !!

इश्क और प्यार की बाते है !!
दबा के ही रखा करो दिल में !!
ये मोहब्बत जो है ढिंढोरा पीट देती है मोहल्ले में !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *