165+ Best Bewafa Shayari in Hindi | दर्द भरी बेवफा शायरी इन हिंदी

Shayari bewafai Bewafa sad shayari Bewafa quotes in hindi Bewafa shayari in hindi 2 line Bewafai ki shayari Shayari on bewafai Bewafa shayari 2 line Bewafai shayari Bewafa shayri in hindi Shayari bewafa Bewafa shayari hindi Bewafa shayari

Bewafa shayari : आज के इस आर्टिकल में हमने आपको दर्द भरी बेवफा शायरी इन हिंदी बताई हैं। जब किसी व्यक्ति को प्यार में धोखा मिलता है या फिर जब किसी व्यक्ति का कोई ख़ास इन्सान उसको छोड़ जाता है तो वह व्यक्ति अंदर ही अंदर पूरी तरह से टूट चुका होता है। और वह बहुत ही बुरा महसूस करता है उसको कुछ भी अच्छा नहीं लगता है यहाँ तक कि कुछ लोग तो प्यार में धोखा मिलने के बाद डिप्रेशन में भी चले जाते हैं।

जिन व्यक्तियों को प्यार में धोखा मिला है या फिर उनका कोई ख़ास इन्सान उनको छोड़ गया जिस वजह से उनको कुछ भी अच्छा नहीं लगता है और वह हमेशा खामोश रहते हैं और डिप्रेशन में जाने का डर रहता है। ऐसे लोगों के लिए हमने आज के इस आर्टिकल में Bewafa Shayari in Hindi बताई है। जिनको अगर आप पढ़ते हैं तो आपको काफी ज्यादा सुकून महसूस होता है आईए जानते हैं 165 से भी ज्यादा Bewafa Shayari कौन सी है।

TABLE OF CONTENTS
 [show]

तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।

बेवफाओं का शोर है यहाँ और,
तुम कहते हो उल्फत है मुझसे।

बेवफा वक़्त था तुम थे या मुकद्दर था मेरा,
बात इतनी ही है कि अंजाम जुदाई निकला।

बेवफाई तो सब करते है पगली,
तु तो समजदार थी कुछ नया कर लेती।

रो पड़ा है आसमा भी मेरी वफ़ा को देख कर,
देख तेरी बेवफाई की बात बादलों तक जा पहुंची।

गिला नहीं कि मेरे हाल पर हँसी है दुनिया,
गिला तो ये है कि पहली हँसी तुम्हारी थी।

मैं तो तुम्हें किस्मत से भी छीन लाता,
बस एक बार तूने ये कहा तो होता कि मैं तेरी हूं।

सिर्फ एक ही बात सीखी इन हुस्न वालों से हमने​​,
हसीन जिसकी जितनी अदा है वो उतना ही बेवफा है।

इच्छाएं बड़ी बेवफ़ा होती हैं,
पूरी होते ही बदल जाती हैं।

वफा की उम्मीद भी हमको उनसे है,
जो बेवफाओं में शुमार है।

Self Love Quotes in Hindi

Bewafa Shayari

जिंदगी में एक बात तो सीख ली है कि,
हम हमेशा किसी के लिए खास नहीं होते।

मुझसे मेरी वफ़ा का सबूत मांग रहा है,
खुद बेवफ़ा हो के मुझसे वफ़ा मांग रहा है।

ऐसी भी कौन सी खताह हो गयी,
रात भी खाबों से बेवफ़ा हो गयी।

तेरी बेवफाई ने हमारा ये हाल कर दिया है,
हम नहीं रोते लोग हमें देख कर रोते हैं।

बेवफाई करने वालों को शर्म कहां होती है,
मजे से चेहरा उठाकर,
वह महफिलों में चले आते हैं।

जो फितरत में ही धोखा रखते हैं,
उन से कभी वफ़ा की उम्मीद मत रखना।

जो सब करते है वो तुमने क्यों किया,
मुझे आदत लगाई और छोड़ दिया।

किसी से बे हिसाब मोहब्बत करली मैने,
समझ गया था अब वो,
मेरी किस्मत में नही आयेगा।

रोती हुई आंखे कभी झूट नही बोलेगी,
ये आसू तभी आते है जब अपना कोई दर्द दे जाए।

उसके बेवफा होने में उसका कसूर नहीं है यारो,
मैने हद से ज्यादा प्यार करना शुरू कर दिया था उसे।

Funny Friendship Shayari in Hindi

Bewafa shayari

अब अकेले रहना सीख लिया है मैने,
पता नही कोन कब छोड़ दे।

वो किसी और को,
पाने की चाहत रखते थे साहब,
हम तो बस टाइमपास थे।

नजर अंदाज क्यों करते हो मुझे,
बस कह दो नजर आना छोड़ दूंगा।

तुम्हारी तस्वीरें मैने कबकी डिलीट कर दी,
मगर फिर भी तुम्हारी याद को कैसे मिटाऊ।

अगर उसके लिए मैं अपनी गर्दन भी कटवा लू,
वो फिर भी यही कहेगा ठीक से नहीं कटवाई।

कोई पूछे की हम क्यों बिछड़े,
मुझे गलत कहकर अपनी इज्जत बचा लेना।

मैने उसको पाने के लिए दोस्तो,
भीक तक मांगी मगर,
उस बेवफा ने मुझे छोड़ दिया।

निभाने वाला गलती माफ करता है,
और छोड़ कर जाने वाला हर हाल के छोड़ जाता है।

मैं उसे कहा तक बातो में उलझता यारो,
उसने मन बना लिया था मुझे छोड़कर जाने का।

किताबे पसंद थी उसे मोहब्बत की,
तभी तो बेवफाई भी अच्छे से जानता था।

Bewafa shayari hindi

हां मुझे आज भी उससे बेहद प्यार है,
मगर ये भी सच है के दिल बेकरार है।

ना रुलाया कर मुझे इतना ए बेवफा,
ये दर्द तेरे हिस्से में न आ जाए।

रिश्ता कैसा भी हो दोस्ती और मोहब्बत,
किसी तीसरे के आने पर बदल जाता है।

कोई तो होगा,
जिसे मुझपर तरस आयेगा।

बोहोत ज्यादा याद आते हो तुम,
यार क्यों छोड़ कर जाते हो तुम।

आखिर किसके लिए जीता हु मै,
वो सक्स तो कबका छोड़ कर चला गया।

वक़्त भी बेबस है आज,
वफ़ा की रात नहीं कट रही,
और बेवफा खुश है इस रात से।

तूने ही लगा दिया इलज़ाम बेवफाई का,
अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी।

उनकी सोहबत में गए सँभले दोबारा टूटे.
हम किसी शख़्स को दे दे के सहारा टूटे।

अपना कंगन समझ रही हो क्या,
और कितना घुमाओगी मुझको।

Shayari bewafa

बहुत ही अजीब लड़की थी वो यार,
पहले मेरी ज़िन्दगी बदली फिर खुद ही बदल गयी।

तो क्या हुआ अगर मेरा प्यार अधूरा रह गया,
तुम्हारा टाइम पास तो पूरा हो गया।

हमको दिल से भी निकाला गया,
फिर शहर से भी हमको पत्थर से भी मारा गया,
फिर ज़हर से भी।

किसी को इतना भी न चाहो के बाद में रोना पड़े,
ये दुनिया दिल से नहीं जरूरत से प्यार करती है।

काम आ सकीं न अपनी वफ़ाएँ तो क्या करें,
उस बेवफ़ा को भूल न जाएँ तो क्या करें।

उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी,
अगर उस में वफ़ा होती तो क्या होता खुदा जाने।

ज़्यादा कुछ तो नहीं माँगा था हमने तुमसे,
एक साथ ही तो माँगा था वो भी ना दे पाए तुम।

मुझे शिकवा नहीं कुछ बेवफ़ाई का तेरी हरगिज़,
गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो।

फिर उसी बेवफ़ा पे मरते हैं,
फिर वही ज़िंदगी हमारी है।

तुम नहीं मिले तो क्या हुआ,
सबक़ तो मिल गया।

Bewafa shayri in hindi

आँखों की नींद दोनों तरह से हराम है,
उस बेवफ़ा को याद करें या भुलाएँ हम।

मेरे दिल में तन्हाइयों का एक काफ़िला हुआ है,
जब से तेरे मेरे दरमियाँ ये फासला हुआ है।

सब कुछ होते हुए भी इस दिल का दर्द नहीं जाता,
क्यूंकि किस्मत ने हमें Bewafa बना दिया।

इंसान अपने आप में मजबूर है,
बहुत कोई नहीं है बेवफ़ा अफ़्सोस मत करो।

तुम बदले तो मजबूरियाँ थी,
हम बदले तो बेवफ़ा हो गए।

बस यही सोचकर मैंने उससे कोई दवा नहीं मांगी,
जो ज़ख्म देता है वो दवा कैसे दे सकता है।

आज तो अवारस की बिरादरी में शामिल हो गया,
ले लो मेरा प्यार भी आज अधूरा रह गया है।

मेरे इतना चाहने से,
क्या खबर थी तुम बेवफा हो जाओगे।

जिसके लिए सारी हदें पार करदी मैने,
आज उसी ने हद में रहना शिखा दिया।

आजकल कुछ ऐसे दर्द देती है बेवफा की याद,
सो जाऊं तो जगा देती है और जाग जाऊं तो रुला।

Bewafai shayari

फोन में नंबर सेव है मगर बात नही होती,
तुझे याद ना करू ऐसी कोई रात नही होती।

उस बेवावफा का इंतजार क्या करना,
जो छोड़कर नहीं रिश्ता तोड़ कर जाए।

एक बात तो जिंदगी ने सीखा दी यारो,
किसी के उतने ही रहना जितना वो तुम्हारा है।

मोहब्बत सच्ची हो तो सुकून देती है,
और बेवफा से हो जाए,
तो जिंदा लास बना देती है।

कोई किसी का नही है इस संसार में,
दिल भरने पर बात करना छोड़ देते है।

हर बात पर सबूत मांगता था,
एक दिन रिहा कर दिया हमने।

थोडा अभी वक्त लगेगा मुझे तुमसा होने में,
बेवफ़ाई अभी सीख रहा हूँ मैं तुमसे।

आज कल उन्हे फुर्सत तक नहीं मिलती,
मुझे याद करने की।

तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।

अपने तजुर्बे की आज़माइश की ज़िद थी,
वर्ना हमको था मालूम कि तुम बेवफा हो जाओगे।

Bewafa shayari 2 line

क्यों महसूस नहीं होती उसे मेरी तकलीफ,
जो कहती थी अच्छे से जानती हूं तुम्हे।

क्या पता था कि महोब्बत हो जायेगी,
हमें तो बस तेरा मुस्कुराना अच्छा लगा।

तुम कुछ गलत थे पर कुछ सही भी,
इसीलिए तुम हो भी और नहीं भी।

हर भूल तेरी माफ़ की तेरी हर खता को भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का तूने बेवफाई सिला दिया।

जब आपको बिना गलती के सजा मिले,
तो उसे Bewafai कहा जाता है।

सीख कर गया है वो मोहब्बत मुझसे,
जिस से भी करेगा बेमिसाल करेगा।

हमसे न करिये बातें यूँ बेरुखी से सनम,
होने लगे हो कुछ-कुछ बेवफा से तुम।

हम इश्क में वफा करते करते बेहाल हो गए,
और वो बेवफाई करके भी खुशहाल हो गए।

किसी से इतनी उम्मीद न करें कि,
आशा के साथ-साथ आप भी टूट जाएं।

तुम साथ थी तो जन्नत थी मेरी ज़िन्दगी,
अब तो हर साँस ज़िंदा रहने की वजह पूछती है।

Shayari on bewafai

कुछ न मिला तो तेरा ही नाम लिखूंगा,
ओ बेवफा मैं तुझी पर सारे इल्जाम लिखूंगा।

जहाँ से जी ना लगे तुम वहीं बिछड़ जाना,
मगर खुदा के लिए बेवफाई ना करना।

तेरी बेवफाई का गम तो नहीं,
मगर तू बेवफा है दुःख ये भी कम नहीं।

तुम क्या जानो बेवफाई की हद ये दोस्त,
वो हमसे इश्क सीखता रहा किसी और के लिए।

वो बेवफा हर बात पे देता है परिंदों की मिसाल,
साफ साफ नहीं कहता मेरा शहर छोड़ दो।

है वो बेवफा तो क्या हुआ मत कहो बुरा उसको,
जो हुआ सो हुआ खुश रखे खुदा उसको।

वो कहता है कि मजबूरियां हैं बहुत,
साफ लफ़्ज़ों में खुद को बेवफा नहीं कहता।

इक उम्र तक मैं जिसकी जरुरत बना रहा,
फिर यूँ हुआ कि उस की जरुरत बदल गई।

काश कोई अपना संभाल ले मुझको,
बहुत कम बचा हूँ बिल्कुल दिसम्बर की तरह।

उसने जी भर के मुझको चाहा था,
फ़िर हुआ यूँ के उसका जी भर गया।

Bewafai ki shayari

तेरी तो फितरत थी सबसे मोहब्बत करने की,
हम बेवजह खुद को खुशनसीब समझने लगे।

तुम बदले तो मजबूरियाँ थी,
हम बदले तो बेवफ़ा हो गए।

याद रहेगा हमेशा यह दर्दे बेवफाई हमको भी,
कि क्या खूब तरसे थे,
जिंदगी में एक शख्स की खातिर।

वह रोयी तो होगी खाली कागज देखकर,
पूछा था उसने अब कैसे गुजर रही है जिंदगी।

तूने ही लगा दिया इलज़ाम-ए-बेवफाई,
अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी।

तेरे हुस्न पे तारीफों भरी किताब लिख देता,
काश तेरी वफ़ा तेरे हुस्न के बराबर होती।

कोई मिला ही नहीं जिसको वफा देते,
हर एक ने दिल तोड़ा किस-किस को सजा देते।

बेवफा लोग बढ़ रहे हैं धीरे-धीरे,
एक शहर अब इनका भी होना चाहिए।

मोहब्बत में ऐसा क्यों होता है,
बेवफाई में वो रोते हैं,
और वफ़ा में हम रोए हैं।

अभी पास है तो ठोकर मारकर,
Bewafa बना देते हो,
जब दूर हो जाएंगे तो प्यार जाताओगे।

Bewafa shayari in hindi 2 line

कितनी भी Care कर लो,
Bewafai करने वाले बेवफा बन ही जाए हैं।

कोमल, दयालु लगते थे जो हसीन लोग,
वास्ता पड़ा तो कठोर और पत्थर के निकले।

अब मैंने खुद का धयान रखना शुरू कर दिया है,
क्योंकि धयान रखने वाले अब बदल चुके है।

हम गम तन्हाई और जुदाई से मरते रहे,
और वो बेवफा बनके चुप बैठे रहे।

हमको दिल से भी निकाला गया फिर शहर से भी,
हमको पत्थर से भी मारा गया और जहर से भी।

तुम नहीं मिले तो क्या हुआ,
सबक तो मिल गया।

मेरे फन को तराशा है सभी के नेक इरादों ने,
किसी की बेवफाई ने किसी के झूठे वादों ने।

अपने जुल्म और सितम का हिसाब क्या दोगे,
जब खुद बेवफा हो उसका जवाब क्या दोगे।

अगर तुम अब भी मेरी हो जाओ तो मैं,
दुनिया की हर किताब से बेवफा लफ्ज मिटा दूंगा।

ये मोहब्बत करने वाले भी बहुत अजीब हैं,
वफा करो तो रुलाते हैं,
और बेवफाई करो तो रोते हैं।

Bewafa quotes in hindi

तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।

तूने ही लगा दिया इलज़ाम-ए-बेवफाई,
अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी।

मुझे शिकवा नहीं कुछ बेवफ़ाई का तेरी हरगिज़,
गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो।

तेरे हुस्न पे तारीफों भरी किताब लिख देता,
काश तेरी वफ़ा तेरे हुस्न के बराबर होती।

उन्हें यकीन है कि हम रो पड़ेंगे,
हम भी तो इंसान हैं इल्ज़ाम नहीं करते।

तेरे बिना ज़िंदगी कुछ भी नहीं,
तू छोड़ दे इसे हम बस ज़िंदगी गुज़ारेंगे।

क़दर भी तेरी क्या होगी हमें,
जब तूने खुद को ही नज़रअंदाज़ किया।

छोड़ दिया हमारा साथ तेरे इनकार के लिए,
अब तू खुश है तो ख़ुश रह,
हम अब इंकार के लिए।

वादा किया था तुझसे ज़िंदगी भर का,
पर तूने धोखा दिया अब इनकार क्या।

दिल में छुपा के रखा था तुझको,
तूने अपने दिल की सुनी, हमारी नहीं।

Bewafa sad shayari

मैं अपनी डायरी के पेज पर जो लिखा है,
उसकी कॉन्टैक्ट लिस्ट में भी नहीं हूं।

आज तो अवारस की बिरादरी में शामिल हो गया,
ले लो मेरा प्यार भी आज अधूरा रह गया है।

जिंदगी का सबसे अच्छा खयाल हो तुम,
इश्क़ और इबादत दोनों में बेमिसाल हो तुम।

प्यार एक तरह की भावनात्मक सच्चाई,
है जिसे हर कोई स्वीकार नहीं कर सकता।

इस दुख भरी जिंदगी में कोई भी,
मेरे साथी के साथ दुख बांटने को राजी नहीं है।

प्यार कभी नहीं बदलता,
जो लोग इसके बजाय प्यार करते हैं।

जो आदमी कॉल लॉग में,
सबसे ऊपर हुआ करता था,
वह अब ब्लॉक लिस्ट में है।

दिल का दरिया था बहते चला गया,
दर्द की लहरों में खुद को तू बहा गया।

जुदाई की रातों में जब तन्हाई आती है,
दिल में तेरी यादों की बरसात होती है।

तेरी वजह से हमने दर्द का आलम जाना,
तू तो बस एक ख़्वाब था,
हमारे दिल का ताज़ाना।

Shayari bewafai

तेरी यादों के चरचे हमारे दिल में हैं,
दिल के दरिया के पानी में तेरी बेवफाई बहती है।

दिल की बातों को कैसे तू समझे,
अब तो तू ही है वजह,
हमारी हर बेवफाई की।

वफ़ादार थे हम तेरे लिए हर दम,
पर तेरे लिए वफ़ा मरने के बाद भी कम थी।

दर्द इतना है कि रूह तक जख्मी है,
तेरी बेवफ़ाई का असर अभी तक नमी है।

दिल में बसी है ख़ामोशियों की गहराई,
तूने तो बेवफ़ाई से रिश्ते तोड़ दिए।

कुछ टूटने की खबर आंसू है,
हमारे जीवन का अखबार आँसू है,
घटनाएं सभी हल्की हैं,
फिर भी भारी आँसू निकल रहे हैं।

दूरी और बेरुखी का जब उनसे जवाब माँगा गया,
तो हमें बेवफा बना के हमसे,
रिश्ता तोड़ने का जवाब दिया।

जब से तेरी बेवफ़ाई की ख़बर मिली,
दिल में ज़हर की तरह तेरी याद समाई है।

ख़ामोश रहने का हक़ भी तो था मेरा,
तूने तो अपनी बेवफ़ाई की ज़िम्मेदारी ले ली है।

तेरी यादों की तलाश में उड़ते हैं हम,
तूने तो अपनी बेवफ़ाई का,
अद्भुत तजुर्बा दिखाया है।

Bewafai wali shayari

दिल की दीवारों को तू तोड़ चुका है,
तेरी बेवफ़ाई ने मेरे अंदर का राज खोल दिया है।

इश्क़ करना तो था तेरे दिल की आदत,
पर तेरी बेवफ़ाई ने तोड़ दिया हमारी इमारत।

दर्द-ए-बेवफ़ाई की तेरे नाम से है जुड़ी,
तूने तो वफ़ादारी की शान छीन ली है।

इश्क़ ने तोड़ा है हमें बहुत बार,
पर तेरी बेवफ़ाई का दर्द सबसे अद्धा है।

तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी।

मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा,
जिन्हे दावा था वफा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा।

मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा,
जिन्हें दावा था वफा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा।

कोई मिला ही नहीं जिसको वफा देते,
हर एक ने दिल तोड़ा किस-किस को सजा देते।

बहुत दर्द देती है आज भी वो यादें,
जिन यादों में तुम नजर आते हो।

अब मत खोलना मेरी जिंदगी की पुरानी किताबों को,
जो थी वो मैं रही नहीं जो हूँ वो किसी को पता नहीं।

Shayari bewafa wala

दिल भर ही गया है तो मना करने में डर कैसा,
मोहब्बत में बेवफाओ पर कोई मुकदमा थोड़े होता है।

तेरी बेवफाई का सौ बार शुक्रिया,
मेरी जान छूटी इश्क़-ऐ-बवाल से।

मुझे दफनाने से पहले मेरा,
दिल निकालकर उसे दे देना,
मैं नहीं चाहता कि वो खेलना छोड़ दे।

मजाक तो मैं बाद में बना,
पहले तो उसने मुझे अपना बनाया था।

किसी का रूठ जाना,
और अचानक बेवफा होना,
मोहब्बत में यही लम्हा क़यामत की निशानी है।

उसने महबूब ही तो बदला है,
फिर ताज्जुब कैसा,
दुआ कबूल ना हो तो,
लोग खुदा तक बदल लेते है।

आज धोखा मिला है इश्क में मेरा दिल टूट सा गया है,
ऐसा लग रहा है जैसे किसी का साथ छूट सा गया है।

हर भूल तेरी माफ़ की तेरी हर खता को भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का तूने बेवफाई सिला दिया।

Best bewafa shayari

उन्हें ज़िद है कि मैं हँसते हुए रुखसत करूं उनको,
मुझे डर है तुम्हारी आँख भर आई तो क्या होगा।

अब मत खोलना मेरी जिंदगी की पुरानी किताबों को,
जो थी वो मैं रही नहीं जो हूँ वो किसी को पता नहीं।

बहुत दर्द देती है आज भी वो यादें,
जिन यादों में तुम नजर आते हो।

वो मिली भी तो क्या मिली बन के बेवफा मिली,
इतने तो मेरे गुनाह ना थे जितनी मुझे सजा मिली।

बहुत अजीब हैं ये मोहब्बत करने वाले,
बेवफाई करो तो रोते हैं,
और वफा करो तो रुलाते हैं।

खुदा ने पूछा क्या सज़ा दूँ उस बेवफ़ा को,
दिल ने कहा मोहब्बत हो जाए उसे भी।

कभी फुर्सत मिले तो इतना जरुर बताना,
वो कौन सी मोहब्बत थी जो हम तुम्हें दे ना सकें।

मेरी आँखों से बहने वाला ये आवारा सा आसूँ,
पूछ रहा है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह।

वफ़ा भी नही करता वो,
बेवफ़ा होने से भी डरता हैं,
मुझे पाना भी नही चाहता,
और मुझे खोने से भी डरता है।

बड़ी सादगी से वो बेवफाई करके निकल गए,
हम वफाएं करके भी बस तंहा यूं ही रह गए।

Bewafa shayari copy

वफा के नाम पर बेवफाई दे जाते हैं,
कुछ लोग प्यार में सिर्फ बदनामी दे जाते हैं।

प्यार निभाना इतना मुश्किल भी नहीं था,
कुछ तेरी वफाओं में कमी थी,
कुछ जमाना धोखा दे गया।

यूं भुला देना तेरे लिए आसान था,
मुझे समय चाहिए मुझे वक्त लगेगा।

इस इश्क में वफा करके भी हम बदनाम हो गए,
और वह प्यार में बेवफाई करके भी मशहूर हो गए।

तेरी बेवफाई का क्या शिकवा करूं,
मुझे तो मेरी वफाओं ने ही मार रखा है।

जिंदगी में कुछ दर्द ऐसे भी होते हैं,
जो हमें जीने का सलीका सिखा जाते हैं।

जिनके दिल में पहले से,
बेवफाई छुपी होती है,
वह अक्सर वफा के नाम से डरते रहते हैं।

ए बेवफ़ा तेरा ख्याल यादों से मिटाया नहीं जाता,
तुझे इस दिल से भुलाया नहीं जाता।

मेरी आँखों से बहने वाले न थमने वाले ये आँसूं,
बार बार तुमसे तुम्हारी,
बेवफाई का कारण पूछ रहे हैं।

अब दोस्तो के दिलो में,
दोस्ती के फूल नहीं खिलते,
दिल में नफ़रत लिए हसकर मिलते हैं।

Shayari on bewafai

मुझसे मेरी वफ़ा का सबूत मांग रहा है,
खुद बेवफ़ा हो के मुझसे वफ़ा मांग रहा है।

मौसम भी इशारा करके बदलता है,
लेकिन तुम अचानक से बदले,
हो हमें यकीन नहीं आता।

उसने दोस्ती का ऐसा सिला दिया,
अपने मतलब के लिए उसने,
मेरी दोस्ती को भुला दिया।

अरे बेपनाह मोहब्बत की थी,
हमने तुझसे ओ बेवफा,
तुझे दुःख दूं ये न होगा,
कभी खुद मर जाऊं यहीं ठीक है।

इन्तहा हो गयी इंतज़ार की,
आयी ना कुछ खबर मेरे यार की,
ये हमें है यकीन बेवफा वो नहीं,
फिर वजह क्या हुई इंतज़ार की।

जिससे हमने Bewafai पायी,
वो हमसे वफ़ा की उम्मीद करते हैं,
दिल पर जख़्म देके,
निशान शरीर पर ढूंढ़ते हैं।

काश कैद कर ले वो पागल,
मुझे अपनी डायरी में,
जिसका नाम छिपा होता है,
मेरी हर शायरी में।

जिसे मुझे खोने का कोई गम ही नहीं है,
तो उसे मुझे खोकर अफसोस हो,
उसका तो सवाल ही पैदा नहीं होता।

हर भूल तेरी माफ़ की,
तेरी हर खता को भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का,
तूने बेवफाई सिला दिया।

आप बेवफा होंगे सोचा ही नहीं था,
आप भी कभी खफा होंगे सोचा नहीं था,
जो गीत लिखे थे कभी प्यार में तेरे,
वही गीत रुसवा होंगे सोचा ही नहीं था।

Bewafa shayari in hindi 2 line

बेवफा लोगों को मुझसे,
बेहतर और कौन जान सकता है,
मैं तो वो दीवाना हूँ जिसने,
किसी की नफ़रत से भी मोहब्बत की है

हमने भी कभी प्यार किया था,
थोड़ा नही बेशुमार किया था,
दिल टूट कर रह गया जब उसने कहा,
अरे मैंने तो मज़ाक किया था।

मेरी वफा के बदले बेवफाई न दिया कर,
मेरी उम्मीद ठुकरा के इन्कार न किया कर,
तेरी मोहब्बत में हम सब कुछ गँवा बैठे,
जान भी चली जायेगी इम्तिहान न लिया कर।

पता होता मेरे अलावा,
कोई और भी है तेरी जिंदगी में,
तो मैं तुझसे क्या तेरे साए से भी दूर रहता।

जिंदगी में कुछ इस तरह से,
रंग बदले हैं तूने कि,
गिरगिट अगर तुम्हें देख ले,
तो वह भी शरमा जाए।

अब मुझे इस जिंदगी में,
किसी से कोई उम्मीद नहीं है,
जिससे थी अब वही मेरी जिंदगी में नहीं है।

हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला,
हमको जो भी मिला बेवफा यार मिला,
अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी,
हर कोई मकसद का तलबगार मिला।

वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे,
किसी की बेवफाई से शायद परेशान ,
हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,
हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे।

सुनने में आया है कि तुमने,
नफ़रत की दुकान खोल ली है,
मेरी एक बात मानना थोड़ी मोहब्बत भी,
रख लेना दिखावे के लिए काम आएगी।

मेरी मोहब्बत सच्ची है,
इसलिए तेरी याद आती है,
अगर तेरी बेवफाई सच्ची है,
तो अब याद मत आना।

Join our whatsapp channel

Bewafa quotes in hindi

चलो कुछ नई शुरुआत करते हैं
तुम हमें बेवफा समझना
हम दिल ही दिल में
तुमसे प्यार करते हैं।

अगर निभाने का इरादा हो तभी प्यार करना,
अपनी बेवफाई से किसी की जिंदगी के साथ,
खेलने का तुम्हें कोई हक नहीं है।

वो बेवफा है ये जान कर भी,
उस से प्यार किया है मैंने,
ऐसे गलत लोगो पर बहुत,
वक़्त बर्बाद किया है मैंने।

पत्थर दिल हूँ फरेबी हूँ,
और बहुत ज़्यादा ज़िद्दी भी हूँ,
क्योंकि अब मासूमियत खो,
दी मैंने वफ़ा करते-करते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *